Visa Kya Hai or Visa Kaise Banate Hai || विजा कैसे बनाये

    Visa Kya hai, visa kaise banaye, visa kaise banate he, india visa दोस्तो आपने Visa का नाम तो सुना ही होगा और आप ये भी जानते होगे कि Visas क्यु बनाया जाता है ! visa kaise banaye दोस्तो अगर हम या अन्य कोई भी व्यक्ति अपने देश से बाहर किसी दुसरे देश मे घुमने या नौकरी करने या अन्य किसी कारण से दुसरे देश जाना चाहता है तो उसे दुसरे देश जाने के लिये Visa की जरुरत होती है  

    visa kaise banaye

    visa kaise banaye- दोस्तो अगर आपका visa बना हुआ है ओर आप विदेश जाना चाहते हो तो आप उसी देश मे जा पाओगे जिस देश का आपने visa बनाया है क्यु की हर देश के लिये अलग अलग visa  होता है इसलिए आप एक Visa  का प्रयोग एक ही देश मे कर सकते हैं। दुसरे देश मे जाने के लिये आपको उस देश का दूसरा visa बनाना पडता हैं।

    VISA Kaise Banaye Visa कितने प्रकार का होता हैं।

    1. Business Visa
    2. Employment Visa
    3. Immigrant Visa
    4. Journalist Visa
    5. Marriage Visa
    6. Medical Visa
    7. Research Visa
    8. Students Visa
    9. Tourist Visa
    10. Transit Visa
    11. X-entry Visa etc.

    VISA कब बनाया जाता हैं।

    1.  BUSINESS VISA – अगर कोई व्यक्ति दुसरे देश मे अपना व्यापार ( business ) करना चाहता है तो उसके लिये Business Visa Provide किया जाता है

    Business Visa बनाने के लिये आपको अपना प्रपोजल लेटर दिखाना जरुरी है और Business से सम्बन्धित अन्य कागजाद भी दिखाने पडते हैं। साथ ही आपको कुछ सवाल पुछे जा सकते है उसके सही उत्तर देने होगे जैसे कि आप विदेश मे व्यापार क्यु करना चाहते है, किस जगह पर व्यापार करेगे, व्यापार का खर्च कहा से लाओगे इत्यादि

    इस Visa की Validity 6 माह से लेकर 10 वर्ष तक हो सकती है।

    2. EMPLOYMENT VISA – ये visa उन लोगो के लिये बनाया जाता है जो किसी दुसरे देश मे नौकरी करना चाहता है चाहे वो सरकारी नोकरी हो या Private नौकरी हो । इस visa को बनाने के लिये आपके पास अपनी नौकरी से जुडे कागजात होना अनिवार्य है आप Government या Private Company से भी कागजात बना सकते हो ।

    इसकी Visa की validity आपकी नौकरी पर निर्भर करती हैं।

    3. IMMIGRANT VISA – अगर कोई व्यक्ति किसी दुसरे देश मे बसना चाहता है या वहा की नागरिकता प्राप्त करना चाहता है तो उनको ये visa दिया जाता है।


    ये visa देने से पहले ये सुनिश्चित किया जाता है दुसरा देश उस व्यक्ति को नागरिकता देगा या नही । अगर दुसरा देश उस व्यक्ति को नागरिकता देने के लिये स्वीकृति देता है तो ही Immigrant visa दिया जाता हैं


    4. JOURNALIST VISA – photographer,  journalist एवं Movies बनाने वाले लोग या Media के लोग  अगर विदेश जाना चाहते है तो उनके लिये journalist visa बनाया जाता है ।

    5. MARRIAGE VISA – अगर कोई व्यक्ति दुसरे देश की लडकी से शादी करना चाहता है और उसे अपने देश बुलाना‌ चाहता है‌ तो उसके लिये marriage visa बनाया जाता है।

    जैसे – भारतीय लडका अमेरिकी लड़की से शादी करना चाहता है तो उसके लिये marriage visa बनाया जायेगा परन्तु इस visa  को बनाने के लिये लडकी को भी अमेरिका की भारतीय एंबेसी मे जाकर इस visa के लिये apply करना पडता है


    6. MADICAL VISA – ये visa उन मरीजों के लिये बनाया जाता है जो विदेश मे अपना इलाज कराना चाहते हैं इसके लिये उनके पास खुद के देश के किसी भी बडे अस्पताल का certificate होना अनिवार्य है। एवं विदेश मे किस जगह इलाज करवाया जायेगा इसकी जानकारी देना भी अनिवार्य है।


    7.  RESEARCH VISA – ये visa प्रोफेसर, प्रोफेशनल, वैज्ञानिक  आदि लोगो को विदेश जाने के लिये दिया जाता है अगर वे किसी सरकारी कार्य से विदेश किसी शोध या परिक्षण के लिये जाते है तो उनको research visa दिया जाता है।


    8. STUDENT VISA – ये visa सिर्फ उन  विधार्थीयो के लिये होता है जो अध्ययन या किसी प्रोफेशनल कोर्स आदि के लिये विदेश जाना चाहते है उनके लिए student visa बनाया जाता है। इस visa की validity विधार्थी के अध्ययन पर निर्भर करती है।


    Gore Hone Ke Gharelu Upay

    9. TOURIST VISA – अगर कोई व्यक्ति मात्र घुमने के लिए विदेश जाना चाहता हैं तो उसके लिये tourist visa बनाया जाता है। ये visa होने पर आप दुसरे देश में सिर्फ घुमने के अलावा कुछ नही कर सकते।सऊदी अरब ने टूरिस्ट वीज़ा 2004 से देने शुरू किए। हालांकि इसके पहले सऊदी अरब हज यात्रियों के लिए तीर्थस्थल वीज़ा जारी करता था।

    10. ANSIT VISAये visa उन लोगो के लिए बनाया जाता है जो कुछ घन्टो के लिये विदेश जाना चाहते हो चाहे वो किसी भी काम से विदेश जा रहे हो उनके लिये transit visa बनाया जाता है।

    ये visa  के लिये  आवेदन करते समय आपको कॉन्फोर्म Return ticket भी दिखानी पड़ती हैं।

    11. E-ENTRY VISA – अगर कोई व्यक्ति दुसरे देश मे रहने लग जाता है या वहा की नागरिकता स्वीकार कर लेता है और उसके बच्चे या परिवार का कोई सदस्य वापिस अपने देश आ कर रहना चाहता है तो उनके लिये   x-entry visa बनाया जाता है। 


    दोस्तो मुजे उम्मीद है‌ की आपको हमारा ये आर्टिकल पसन्द आया होगा  आप अधिक जानकारी के लिये comment कर सकते हैं।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here